CHINTA UTNI KARO KI KAAM HO JAYE | motivational story in hindi


CHINTA UTNI KARO KI KAAM HO JAYE | motivational story in hindi

CHINTA UTNI KARO KI KAAM HO JAYE | motivational story in hindi
CHINTA UTNI KARO KI KAAM HO JAYE | motivational story in hindi

hello friends  hindimotivationalstory.in में आपका स्वागत है। 

आज हम बात करने वाले है ऐसे टॉपिक पे जो सही मात्रा में की जाये तो इंसान को ऊपर उठा देती है और अगर ज्यादा की जाये तो इंसान की life तमाम कर देती है। 

जी हा में बात कर रहा हूँ उस चीज़ की जो हम सभी करते है किसीना किसी चीज़ के लिए वो है " चिंता "

अगर कोई student है तो स्टडी के लिए चिंता करता है अगर कोई businessman है तो बिज़नेस के लिए करता है तो कोई family के लिए करता है। 

चाहे वो कम हो या ज्यादा लेकिन चिंता तो हर कोई करता है। 

friends अगर सच बात की जाये तो चिंता करना कोई गलत बात नहीं है पर ज्यादा करना गलत बात है। 

ज्यादा चिंता करने पर इंसान को अंदर से खोखला कर देता है और कमजोर बना देता है उसके वजह से वो इंसान डिप्रेशन का शिकार  हो जाता है। 

friends में ये नहीं कहता की आप बिलकुल ही चिंता ना करे चिंता करना भी जरुरी है। 

लेकिन उतनी जितनी जरुरी हो नहीं की बस चिंता में दुबे रहे और बीमार और  कमजोर हो जाये। 

क्यों की  चिंता एक ऐसी चीज़ है जो ज्यादा करने से इंसान के mind पर हावी हो जाती है और उसके वजह से इंसान छोटी  छोटी बातो पे stress लेना चालू कर देता है। 

और इंसान को कोई भी काम करने से पहले रोकता है और उसके मन में डर बैठा देता है। 

अगर आप student है तो जरुरी है की exam की चिंता करे पर ज्यादा नहीं की अपने mind पे ले ले। 

क्यों की कई बार ऐसा होता है की कोई subject की exam है और student चिंता में लगा रहता है 

की कैसे पास करूँगा अभी कुछ तैयारी ही नहीं की है और ऐसे सोच में पड़ा रहता है और डरता रहता है।  

पर friends सच बात बोलू तो जितना time आप चिंता करके सोचने में लगाते है अगर  उतना ही time उस समस्या को हल करने में लगाएंगे तो आपकी चिंता अपने आप दूर होती जाएगी। 

उसी तरह अगर कोई बिजनेसमैन है तो उसको कोई बिज़नेस की समस्या है तो वो उसे हल करने की कोसिस करे ना की बहुत बड़ी समस्या में फस गया हूँ ऐसा सोचके चिंता करने लगे और सर पे हाथ रख के बैठे रहे। 

क्यों की जैसे जैसे आपकी समस्या का हल निकलता जायेगा आपकी चिंता दूर होती जाएगी। 

friends  सच बात की जाये तो दुनिया में हर किसीको किसीना किसी चीज़ के लिए चिंता होती है। 

लेकिन ये हमारे पे है की हम किस चीज़ के लिए कितनी चिंता करे क्यों की कई बार ऐसा होता है की हम फालतू चीज़ के लिए फ़िज़ूल में चिंता करते रहते  है। 

ज्यादा  चिंता इंसान को डरपोक और कमजोर बना देती है 

इसी लिए तो कहते है की 

“  चिंता उतनी करो की काम हो जाए 
नहीं की जिंदगी तमाम  हो जाए  ”

तो friends क्या आप भी डरपोक और कमजोर बनना चाहते हो ?? 

अगर नहीं तो ज्यादा चिंता करना छोड़े और आपकी समस्या को हल करने की तैयारी में लग जाये आपकी हर चिंता अपने आप दूर हो जाएगी। 

थैंक यू। 

please share and comment 

Post a Comment

0 Comments